समाजवादी पार्टी जो की गुंडई और दबंगई के लिए पुरे देश में बदनाम है, अपने पुराने चरित्र के अनुरूप योगी सरकार के पहली विधानसभा सत्र के पहले दिन जमकर हंगामा काटा| माननीय राज्यपाल ताकि अपना भाषण पूरा न कर सके सपा विधायक बेल के बीचोबीच आ गए और विधानसभा के कार्यवाही को बाधित करने का प्रयास किया| माननीय राज्यपाल महोदय ने जैसे ही अपना भाषण प्रारम्भ किया सपा विधायक जोर जोर से नारे लगाने लगे जिससे की माननीय राज्यपाल को अपना भाषण पूरा करने से रोका जा सके| इस अगरिमामयी व्यवहार में बसपा विधायकों ने भरपूर साथ दिया| जब इन्होने देखा की राज्यपाल महोदय अपना भाषण जारी रखे हुए है तो उनमे से कुछ विधायकों ने माननीय राज्यपाल पर पेपर के गोले फेंकना प्रारम्भ कर दिया जिसे की बड़ी मुश्किल से वहां खड़े मार्शल्स ने माननीय राज्यपाल तक पहुंचने से रोका|

महामहिम राज्यपाल विधायकों से सदन की गरिमा बनाये रखने की कई बार अपील की पर गुंडई पर आमादा सपा और बसपा विधायक सदन की गरिमा को तार तार करते रहे| इसी बीच अखिलेश यादव अपने सीट पर बैठ कर न्यूज़ पेपर पढ़ते दिखाई दिए जैसे मानो की सदन की गरिमा भांग होने पर उन्हें कोई फ़र्क़ ही नहीं पड़ता हो|

सपा और बसपा विधायक उत्तरप्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर यह विरोध प्रदर्शन कर रहे थे| उनका कहना था सहारनपुर की घटना को सम्हालने में सरकार फेल रही| गौरतलब है सहारनपुर में जातीय हिंसा में अब तक किसी के भी मौत की खबर सामने नहीं आयी जबकि सपा शासन काल में 5 साल में लगभग 500 दंगे और 1000 से ज्यादा लोगो की जान गयी थी|

Advertisements